जल्दी बुलाकर लाओ : अकबर बीरबल की कहानी | Akbar Birbal Story In Hindi

मित्रों, इस “Akbar Birbal Hindi Short Story” में अकबर अपने सेवक को एक आदेश देते हैं, जिसे सेवक समझ नहीं पाता. लेकिन डर के मारे वह अकबर से पुनः उस आदेश के बारे में पूछ नहीं पाता. कैसे वह आदेश पूरा करता है? इसमें कौन उसकी मदद करता है? ये जानने के लिए पढ़िए पूरी कहानी (Hindi Akbar Birbal Story) :

Akbar Birbal Hindi Short Story

Akbar birbal hindi short story
Akbar birbal Hindi Short Story | Source : Akbar Birbal PNG

एक दिन की बात है. बादशाह अकबर सुबह सोकर उठे और एक सेवक को बुलवाकर अपनी दाढ़ी खुजलाते हुए बोले, “जाओ जल्दी बुलाकर लाओ?”

अकबर (Akbar) की बात सेवक के पल्ले नहीं पड़ी. किंतु उसमें इतना साहस नहीं था कि पलटकर अकबर से पूछ ले कि वे चाहते क्या हैं? आखिर किसे बुलाकर लाना है? वह “जी हुज़ूर” कहकर कक्ष से बाहर चला आया.

बाहर आकर उसने दूसरे सेवकों को यह बात बताई. वे भी उलझन में पड़ गए. सब इधर से उधर भाग-दौड़ करने लगे और जो मिला उससे अकबर की कही बात का अर्थ पूछने लगे. लेकिन किसी को उस बात का अर्थ समझ नहीं आया.

आखिरकार वह सेवक दौड़ा-दौड़ा बीरबल (Birbal) के घर गया और पूरी बात बताते हुए बोला, “हुज़ूर, आप ही बादशाह सलामत की बात का मतलब बता सकते हैं. सबसे पूछ चुका हूँ, पर कोई इसका अर्थ समझ नहीं पा रहा है. अगर जल्दी बादशाह का हुक्म नहीं बजाया, तो मेरी शामत आ जायेगी.”

पढ़ें : नंदी कैसे बने भगवान शिव के वाहन? | Lord Shiva & Nandi Story In Hindi

बीरबल ने कुछ देर विचार किया. फिर सेवक से पूछा, “अच्छा ये बताओ, जब जहाँपनाह ने तुम्हें ये हुक्म दिया, तब वे क्या कर रहे थे?”

“बादशाह सलामत सोकर उठे थे और बिस्तर पर बैठकर अपनी दाढ़ी खुजा रहे थे.” सेवक सोचते हुए बोला.

बीरबल को पूरी बात समझते देर नहीं लगी और वो बोला, “हज्ज़ाम को लेकर फ़ौरन बादशाह सलामत के पास पहुँचो.”

सेवक ने वैसा ही किया और हज्ज़ाम को लेकर अकबर के सामने हाज़िर हो गया. अकबर हज्ज़ाम को देखकर सोच में पड़ गए – “मैंने तो सेवक को बताया ही नहीं था कि किसे बुलाना है. फिर ये हज्ज़ाम को लेकर कैसे आ गया?”

पढ़ें : सांप और कौवा : पंचतंत्र की कहानी | The Snake & The Crow Panchatantra Story

उन्होंने सेवक से पूछा, “सच-सच बताओ, किसके कहने पर तुम हज्ज़ाम को लेकर आये हो?”

घबराये सेवक ने बीरबल का नाम लिया और बोला कि बीरबल के सुझाव पर ही वह हज्ज़ाम को लेकर हाज़िर हुआ है. अकबर बीरबल की अक्लमंदी पर बहुत खुश हुए.

दोस्तों, आशा है आपको ये “akbar birbal hindi short story“ पसंद आयी होगी. आप इसे Like कर सकते हैं और अपने Friends के साथ Share भी कर सकते हैं. ऐसी ही मज़ेदार “Akbar Birbal Stories In Hindi” पढ़ने के लिए हमें Subscribe ज़रूर कीजिये. Thanks.    

Read More Best Akbar Birbal Hindi Short Story :

Leave a Comment