अकबर बीरबल के प्रसिद्ध चुटकुले | 10 Famous Akbar Birbal Jokes In Hindi

मित्रों, “Akbar Birbal Jokes In Hindi के कलेक्शन में आज हम आपके लिए दो हँसी से लोट-पोट कर देने वाले चुटकुले लेकर आये हैं. अकबर बीरबल (akbar birbal) के मध्य अक्सर मज़कियाँ बातें होती रहती थी. दोंनो बड़े अदब से एक-दूसरे की टांग खिंचाई किया करते थे. इस “Akbar Birbal Ke Chutkule में दोनों के मध्य हास्य-विनोद पूर्ण वार्ता का वर्णन है. 

10 Best Akbar Birbal Jokes In Hindi

Akbar Birbal Jokes In Hindi
Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Jokes In Hindi

Akbar Birbal Jokes In Hindi # १. गधा कौन ? 

एक बार अकबर अपने दो पुत्रों के साथ यमुना में स्नान करने गए. बीरबल भी उनके साथ था. यमुना किनारे पहुँचकर अकबर और उनके दोनों पुत्रों ने अपने कपड़े उतारे और उन्हें रखवाली के लिए बीरबल को देकर पानी में उतर गए.

बीरबल ने उन कपड़े को अपने कंधों पर टांग लिया और किनारे खड़े होकर उन तीनों के बाहर आने का इंतज़ार करने लगा.

नहाते-नहाते अकबर की नज़र जब किनारे खड़े बीरबल पर पड़ी, तो वे ज़ोर-ज़ोर से हँसने लगे. बीरबल अकबर को यूं हँसता देख हैरान हो गया और पूछ बैठा, “हुज़ूर! आपको किस बात पर इतनी हँसी आ रही हैं?”

इस पर अकबर ने कहा, “बीरबल! तुम्हें देखकर ऐसा लग रहा है, मानो धोबी का गधा कपड़ों को लादकर खड़ा है.” यह कहकर अकबर और ज़ोर से हँसने लगे.

बीरबल भी कहाँ पीछे रहने वाला था. उसने भी तपाक से उत्तर दिया, “हुज़ूर! धोबी के गधे के पास तो एक गधे का बोझ होता है. लेकिन मुझे देखो, मैं तो तीन-तीन गधों का बोझ उठाये खड़ा हूँ.”

बीरबल के इस उत्तर ने हँसी के साथ-साथ अकबर की बोलती भी बंद कर दी.


Akbar Birbal Jokes In Hindi # २. कुत्ते की रोटी  

एक दिन अकबर और बीरबल हमेशा की तरह नगर भ्रमण पर निकले. रास्ते में अकबर को एक कुत्ता बासी और जली हुई रोटी खाते हुए दिखाई दिया. यह देख अकबर ने बीरबल का मजाक उड़ाते हुए कहा, “देखो तो, कुत्ता कैसे काली को खा रहा है.” यहाँ अकबर का इशारा जली-काली रोटी की तरफ़ नहीं था, बल्कि बीरबल की माँ की तरफ़ था, जिनका नाम ‘काली’ था.

बीरबल को ये बात कुछ चुभी, इसलिए वो भी चुप नहीं रहा और बोला, “अरे हुज़ूर! उसके लिए तो वही नियामत है.”

‘नियामत’ अकबर की माँ का नाम था. बीरबल का दो टूक जवाब सुनकर अकबर की बोलती फिर बंद हो गई.


Akbar Aur Birbal Ke Chutkule # ३. रोज़ा ना टूटे

Akbar Birbal Jokes In Hindi
Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Jokes In Hindi

रोज़े के दौरान एक बार अकबर ने बीरबल से पूछा, “बीरबल! कोई ऐसा तरीका बताओ कि मैं खाऊँ-पियूं भी और मेरा रोज़ा भी ना टूटे.

बीरबल ने कहा, “हुज़ूर! आप लोगों के लात-घूंसे खाइये और अपना गुस्सा पी लीजिये. आपका सब कुछ टूटेगा, किंतु रोज़ा नहीं.”

अकबर ये सोचते रह गए कि उन्होंने बीरबल से ये सवाल पूछा ही क्यों.


Akbar Aur Birbal Ke Chutkule # ४. हज़ार जूते 

एक बार अकबर को मसखरी सूझी और उन्होंने बीरबल के जूते छिपवा दिये. बीरबल जब घर जाने को हुआ और उसे अपने जूते नहीं मिले, तो वह कुछ परेशान हो गया. तब अकबर ने बीरबल की चुटकी लेते हुए सेवकों हुए कहा, “बीरबल को दो जूते दिए जायें.”

बीरबल अकबर की टांग खिंचाई की आदत से वाकिफ़ था. वह अकबर के व्यंग्य बाण का अर्थ समझ गया. जब उसे जूते लाकर दिए गए, तो मुस्कुराते हुए वह बड़े ही अदब से बोला, “जहाँपनाह! आपने मुझे दो जूते दिए, भगवान आपको ऐसे हजारों जूते दे.” इतना कहकर वह वहाँ से निकल गया. इधर अकबर बीरबल के कही बात का मतलब निकालते रह गए.    


Akbar Birbal Jokes In Hindi # ५. अकबर और अनारकली 

Akbar Birbal Jokes In Hindi
Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Jokes In Hindi

अकबर : बीरबल, हम अनारकली को क्यों नहीं दूंढ पा रहे हैं?

बीरबल : क्योंकि हम मुग़ल है, गूगल नहीं!!


Akbar Aur Birbal Ke Chutkule # ६. किसका नौकर? 

एक बार अकबर और बीरबल दावत पर गए. वहाँ उन्हें बैंगन की सब्जी परोसी गई. अकबर ने बैंगन की सब्जी खाकर कहा, “वाह! कितनी स्वादिष्ट सब्जी है.”

बीरबल भी बैंगन की सब्जी के तारीफ़ों के पुल बांधने लगे.

कुछ दिनों बाद अकबर और बीरबल एक दूसरी दावत पर गए. वहाँ भी उन्हें बैंगन की सब्जी परोसी गई, जिसे देख अकबर नाक-भौं सिकोड़ने लगे. तब बीरबल ने बैंगन की सब्जी की जमकर बुराई की.

यह देख अकबर ने कहा, “बीरबल! तुम तो बड़े चापलूस निकले.”

“जहाँपनाह! मैं आपका नौकर हूँ. बैंगन का नहीं.” बीरबल ने तपाक से उत्तर दिया.  


Birbal Badshah Ke Chutkule # ७. अकबर के तीन सवाल 

अकबर ने बीरबल से तीन सवाल पूछते हुए कहा कि इन तीनों सवालों का जवाब एक ही होना चाहिए.

सवाल थे :

१. दूध क्यों उफ़न जाता है?

२. पानी क्यों बह जाता है?

३. सब्जी क्यों जल जाती है?

बीरबल – “whatsapp चालू होने की वजह से.”


Akbar Birbal Jokes In Hindi # ८. जेल और कैदी 

एक दिन अकबर बहुत ख़ुश था. उन्होंने जेल में कैद सभी कैदियों को रिहा करने का आदेश दे दिया.

जेल से सारे कैदी आज़ाद कर दिए गए. उन कैदियों में एक बूढ़ा कैदी भी थी.

अकबर ने पूछा, “तुम बड़े बुजुर्ग लग रहे हो. कब से कैद में हो?”

बूढ़े ने जवाब दिया, “हुज़ूर, मैं आपके पिता के समय से कैद हूँ.”

“इसे फिर से बंद कर दो. ये हमारे अब्बा हुज़ूर की आख़िरी निशानी है.” अकबर बोला.


Akbar Badshah Ke Chutkule # ९. अकबर और संता 

Akbar Birbal Jokes In Hindi
Akbar Birbal Jokes In Hindi | Akbar Birbal Chutkule | Akbar Birbal Jokes In Hindi

एक बार मुगल सैनिकों ने संता को रात में महल के पास फालतू भटकते हुए देख पकड़ लिया. वे उसे पकड़कर बादशाह अकबर के सामने ले गए.

अकबर : कौन हो तुम?

संता : हुज़ूर! मैं संता हूँ.

अकबर : इतनी रात को महल के आस-पास क्या कर रहे हो?

संता : वो हुज़ूर…मैं तो….यूं ही…..

अकबर : सैनिकों इसे बंदी बना दिया जाये.

संता : नहीं हुज़ूर! रहम करें! मुझे बंदी मत बनाइये. मुझे बंदा ही रहने दीजिये.


Akbar Birbal Jokes In Hindi # १०. दीवार पर कुछ लिखो 

अकबर ने बीरबल से कहा – इस दीवार पर कुछ ऐसा लिखो कि ख़ुशी में पढूं, तो दुःख हो और दुःख में पढूं, तो ख़ुशी हो.

बीरबल ने दीवार पर लिखा – ये वक़्त गुजर जायेगा.


अकबर बीरबल की कहानियों का संपूर्ण संग्रह यहाँ पढ़ें : click here


दोस्तों, आशा है आपको “akbar birbal jokes in hindi” पसंद आये होंगे. आप इन्हें Like कर सकते हैं और अपने Friends को Share भी कर सकते हैं. ऐसे ही मज़ेदार Akbar Birbal Ke Chutkule In Hindi पढ़ने के लिए हमें subscribe ज़रूर कीजिये. Thanks.

Read More Articles In Hindi :

Leave a Comment