पिता बेटी की दिल को छू लेने वाली छोटी कहानी | Father Daughter Emotional Story In Hindi

फ्रेंड्स, इस पोस्ट में हम पिता बेटी की दिल छू लेने वाली छोटी कहानी (Father Daughter Emotional Story In Hindi). Father Daughter Relationship Story In Hindi में पिता और बेटी के रिश्ते को बड़े भावनात्मक अंदाज़ में वर्णन किया गया है. पढ़िये Pita Beti Ki Kahani :

 Father Daughter Emotional Story In Hindi

 Father Daughter Emotional Story In Hindi
Father Daughter Emotional Story In Hindi

एक दिन एक लड़की ने अपने पिता से पूछा, “पापा! क्या आप कभी मेरी वजह से वो रोये हैं?” उसके ऐसा पूछने का कारण ये था कि उसने कभी भी अपने पिता को रोते हुए नहीं देखा था.

इस सवाल के जवाब में पिता ने कहा, “हाँ, एक बार ऐसा कुछ हुआ था, जब तुम्हारी वज़ह से मैं रोया था.”

यह सुनकर लड़की उस बात को जानने के लिए उत्सुक हो गई कि आखिर वह क्या बात थी, जिसने उसके पिता को रुला दिया था.

इस उत्सुकतता को शांत करने के लिए पिता वह किस्सा सुनाने लगा –

“बात उस समय है, जब तुम ८ माह की थी. एक दिन मैंने तुम्हारे सामने तीन चीज़ें रखी – एक पेन, एक सिक्का और एक खिलौना. मैं ये जानना चाहता था कि तुम उन चीजों में से क्या उठाओगी. उनमें पेन बुद्धिमत्ता का प्रतीक था, सिक्का धन का और खिलौना मनोरंजन का प्रतीक था.

मैं ये सब बस एक जिज्ञासा के कारण कर रहा था. मेरे लिए ये जानना बहुत रोचक था कि मेरी बेटी के लिए आगे जाकर क्या सबसे अधिक मायने रखेगा? मैं तुम्हारे सामने बैठकर बेसब्री से तुम्हारे अगले कदम का इंतजार कर रहा था.

मैंने देखा कि कुछ देर बैठकर तुम उन चीज़ों को देखती रही. फिर घुटने के बल पर चलते हुए उनकी ओर बढ़ी. जब मैंने तुम्हें आगे बढ़ते हुए देखा, तो मेरी धड़कने मानो सी रुक गई.

लेकिन अगले ही पल तुमने उन सभी चीज़ों को अपने हाथ से एक तरफ हटा दिया और आगे बढ़कर मेरी गोद में चली आई. बस यही वो पल था, जब मेरा दिल भर आया था और तुम्हारी वज़ह से मैं रो पड़ा था.”

यह किस्सा सुनकर लड़की की आँखों में आँसू आ गए.

Father Daughter Relationship Story In Hindi Video

Friends, आपको ये ‘Father Daughter Emotional Story In Hindi‘ कैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. ये ‘Pita Beti Ki Kahani‘ पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और Emotional, Heart Touching Stories, Moral Stories, Motivational Stories & Kids Stories In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

इन कहानियों को भी अवश्य पढ़ें :

क्रोध पर कहानियाँ

दोस्ती पर कहानियाँ

Leave a Comment