बाज़ और चूज़ों की कहानी | The Eagle And The Chicken Story In Hindi

फ्रेंड्स, इस पोस्ट में हम बाज़ और चूज़ों की कहानी (The Eagle And The Chicken Story In Hindi) शेयर कर रहे हैं. मुर्गी के चूजों के साथ पलने वाले बाज़ की ये कहानी अपना दृष्टिकोण व्यापाक बानने की सीख देती हैं. यदि जीवन में ऊंची उड़ान भरना है, तो दृष्टिकोण व्यापक होना आवश्यक है. कहानी कैसे ये सीख देती है, जानने के लिए पढ़िये दृष्टिकोण पर कहानी (Story On Attitude In Hindi) :

The Eagle And The Chicken Story In Hindi

The Eagle And The Chicken Story In Hindi
The Eagle And The Chicken Story In Hindi

पढ़ेंप्रेरणादायक कहानियों का विशाल संग्रह 

एक गाँव में एक किसान रहता था. एक बार उसे कहीं से बाज़ का एक अंडा मिला. उसने वह अंडा मुर्गी के अंडे के साथ रख दिया. मुर्गी उस अंडे को अन्य अंडों के साथ सेने लगी.

कुछ दिनों में मुर्गी के अंडे में से चूज़े निकल आये और बाज़ के अंडे में से बाज़ का बच्चा. बाज़ का बच्चा चूज़ों के साथ पलने लगा. वह चूज़ों के साथ खाता-पीता, खेलता, इधर-उधर फुदकता बड़ा होने लगा.

चूज़ों के साथ रहते हुए उसे कभी अहसास ही नहीं हुआ कि वह चूज़ा नहीं बल्कि बाज़ है. वह खुद को चूजा ही समझता था और हर काम उन्हीं की तरह करता था.

जब उड़ने की बारी आई, तो अन्य चूज़ों की देखा-देखी वह भी थोड़ी ही ऊँचाई तक उड़ा और फिर वापस जमीन पर आ गया. उसका भी ऊँचा उड़ने का मन करता, लेकिन जब वह सबको थोड़ी ही ऊँचाई तक उड़ता देखता, तो वह भी उतनी ही ऊँचाई तक उड़ता. ज्यादा ऊँचा उड़ने की वह  कोशिश ही नहीं करता था.

पढ़ें : मुसीबत को झटक दो : प्रेरणादायक कहानी | Donkey In The Well Story In Hindi

एक दिन उसने ऊँचे आकाश में एक बाज़ को उड़ते हुए देखा. इतनी ऊँचाई पर उसने किसी पक्षी को पहली बार उड़ते हुए देखा था. उसे बड़ा अचरज हुआ. उसने चूजों से पूछा, “वो कौन है भाई, जो इतनी ऊँचाई पर उड़ रहा है?”

चूज़े बोले, “वो पक्षियों का राजा बाज़ है. वह आकाश में सबसे ज्यादा ऊँचाई पर उड़ता है. कोई दूसरा पक्षी उसकी बराबरी नहीं कर सकता.”

“यदि मैं भी उसके जैसा उड़ना चाहूं तो?” बाज़ के पूछा.

“कैसी बात करते हो? मत भूलों तुम एक चूज़े हो. चाहे कितनी ही कोशिश कर लो, बाज़ जितना नहीं उड़ पाओगे. इसलिए व्यर्थ में ऊँचा उड़ने के बारे में मत सोचो. जितना उड़ सकते हो, उतने में ही ख़ुश रहो.” चूज़े बोले.

बाज़ ने यह बात मान ली और कभी ऊँचा उड़ने की कोशिश ही नहीं की. बाज़ होने बावजूद वह पूरी ज़िन्दगी मुर्गी के समान जीता रहा.

सीख (The Eagle And The Chicken Story Moral

सोच और दृष्टिकोण का हमारे जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता हैं. हम सभी क्षमता और संभावनाओं से परिपूर्ण हैं. चाहे हम कैसी भी परिस्थिति में क्यों न हों, हमें आवश्यकता है अपनी क्षमता पहचानने की और अपनी सोच तथा दृष्टिकोण को व्यापक बनाने की. हम स्वयं को चूज़े समझेंगे तो चूज़े ही बनेंगे और बाज़ समझेंगे, तो बाज़ बनेंगे. ख़ुद को कम न समझें, अपनी क्षमता को सीमित न करें, बाज़ बनें और जीवन में ऊँची उड़ान भरें.


Friends, आपको ये ‘The Eagle And The Chicken Story In Hindi‘ कैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. ये Story On Attitude In Hindi पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और Kids Stories With Moral In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

Read More Hindi Stories : 

जीवन का दर्पण : प्रेरणादायक कहानी

समस्या का दूसरा पहलू : प्रेरणादायक कहानी 

जो चाहोगे सो पाओगे : प्रेरणादायक कहानी

उबलता पानी और मेंढक : प्रेरणादायक कहानी

बड़ा सोचो : प्रेरणादायक कहानी

अपनी क्षमता पहचानो : प्रेरणादायक कहानी

Leave a Comment