अबाबील और कौवे की कहानी | The Swallow And The Crow Story In Hindi

फ्रेंड्स, इस पोस्ट में हम अबाबील और कौवे की कहानी (The Swallow And The Crow Story In Hindi) शेयर कर रहे हैं. इस ईसप की दंतकथा (Aesop’s Fables In Hindi) में अपनी सुंदरता के घमंड में चूर अबाबील पक्षी का सामना काले रंग के कौवे से होता है और वह उसे नीचा दिखाने के प्रयास में लग जाता है. क्या कौवा दु:खी हो जाता है? वह अबाबील को क्या जवाब देता है, यही इस कहानी में बताया है. पढ़िए :  

The Swallow And The Crow Story In Hindi

The Swallow And The Crow Story In Hindi
The Swallow And The Crow Story In Hindi

ईसप की दंतकथाओं का संपूर्ण संग्रह : click here

जंगल में एक ऊँचे पेड़ पर एक अबाबील पक्षी रहता था. उसके पंख रंग-बिरंगे और सुंदर थे, जिस पर उसे बड़ा घमंड था. वह ख़ुद को दुनिया का सबसे सुंदर पक्षी समझता था. इस कारण हमेशा दूसरों को नीचा दिखाने की कोशिश करता रहता था.

एक दिन कहीं से एक काला कौवा आकर उस पेड़ की एक डाली पर बैठ गया, जहाँ अबाबील रहता था. अबाबील ने जैसे ही कौवे को देखा, तो अपनी नाक-भौं सिकोड़ते हुए कहने लगा, “सुनो! तुम कितने बदसूरत हो. पूरे के पूरे काले. तुम्हारे किसी भी पंख में कोई रंग नहीं है. मुझे देखो, मेरे रंग-बिरंगे पंखों को देखो. मैं कितना सुंदर हूँ.”

कौवे ने जब अबाबील की बात सुनी, तो बोला, “कह तो तुम ठीक रहे हो. मेरे पंख काले हैं, तुम्हारे पंखों जैसे रंग-बिरंगे नहीं. लेकिन ये मुझे उड़ने में मदद करते हैं.”

“वो तो मुझे भी करते हैं. देखो.” कहते हुए अबालील उड़कर कौवे के पास जा पहुँचा और अपने पंख पसारकर बैठ गया. उसके रंग-बिरंगे और सुंदर पंखों को देखकर कौवा मंत्र-मुग्ध हो गया.

पढ़ें : लोमड़ी और बिल्ली की कहानी

“मान लो कि मेरे पंख तुमसे बेहतर हैं.” अबाबील बोला.

“वाकई तुम्हारे पंख दिखने में मेरे पंखों से कहीं अधिक सुंदर हैं. लेकिन मेरे पंख ज्यादा बेहतर है क्योंकि ये हर मौसम में मेरे साथ रहते हैं और इनके कारण मौसम चाहे कैसा भी हो, मैं हमेशा उड़ पाता हूँ. लेकिन तुम ठंड के मौसम में उड़ नहीं पाते, क्योंकि तुम्हारे पंख झड़ जाते हैं. मेरे पंख जैसे भी हैं, वो मेरा साथ कभी नहीं छोड़ते.” कौवा बोला.

कौवे की बात सुनकर अबाबील का घमंड चूर-चूर हो गया.

सीख (Moral of the story)

दोस्ती करें, तो सीरत देखकर करें न कि सूरत देखकर, क्योंकि अच्छी सीरत का दोस्त अच्छे-बुरे हर वक़्त पर आपके साथ रहेगा और आपका साथ देगा. वहीं मौका-परस्त दोस्त अपना मतलब साधकर बुरे वक़्त में आपको छोड़कर चला जायेगा.


Friends, आपको ये ‘The Swallow And The Crow Story In Hindi‘ कैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. ये Bird Stories In Hindi पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और Kids Stories With Moral In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

Friends, आपको “The Fox And The Cat Story In Hindiकैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. “Lomadi Aur Billi Ki Kahani” पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और  Famous Aesop’s Fables & Story for Kids In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

Read More Hindi Stories :

गधा, लोमड़ी और शेर की कहानी

बंदर और डॉल्फिन की कहानी

शेर और बंदर की कहानी

गंजा व्यक्ति और मक्खी की कहानी   

Leave a Comment