पहनावे से लोगों का आंकलन न करें | Inspirational Life Lessons Story In Hindi

inspirational life lessons Story in hindi
inspirational life lessons Story in hindi

Inspirational Life Lessons Story In Hindi : उस दिन बैंक में बहुत भीड़ थी. कैश काउंटर में लोगों की लंबी कतार लगी हुई थी. उस कतार में एक वृद्ध महिला भी खड़ी होकर अपनी बारी आने का इंतजार कर रही थी. शक्लो-सूरत और कपड़ों से वह बेहद साधारण सी महिला लग रही थी. उसके हाथ में सब्जियों का थैला यह इशारा कर रहा था कि वह बाज़ार से सब्जियाँ ख़रीदकर बैंक आई है.

काफ़ी देर इंतज़ार करने के बाद जब उसकी बारी आई, तो उसने कैश काउंटर पर बैठी कैशियर महिला से कहा, “मैडम, मुझे अपने अकाउंट से ५०० रूपये निकालने है.”

५०० रुपये जैसी छोटी रकम सुनकर कैश काउंटर पर बैठी महिला कुछ चिढ़ सी गई और हिक़ारत भरी नज़र से वृद्ध महिला को देखते हुए बोली, “५०० रुपये के लिए क्यों लाइन में लगी हो? यहाँ ५००० रूपये से अधिक की रकम ही निकलेगी. उससे कम रकम निकालनी है, तो एटीएम से निकालो.”

पढ़ें : चोर की दाढ़ी में तिनका : अकबर बीरबल की कहानी 

लंबे इंतज़ार के बाद वृद्ध महिला की बारी आई थी, वह अनुनय करते हुए बोली, “मैडम, मैं अपना ATM Card घर पर भूल आई हूँ. बाज़ार के लिए निकली थी. अब पैसों को ज़रुरत पड़ गई है. बहुत देर से मैं लाइन में खड़ी हुई हूँ. कृपया मेरी मदद करें और ५०० रुपये मेरे खाते से निकालकर मुझे दे दें.”

“नियम तो ऐसा ही है. हम ५००० रूपये से कम की रकम नहीं दे सकते. अब जाओ यहाँ से. मेरा समय बर्बाद मत करो.” रुखाई से कैशियर ने जवाब दिया.

कैशियर का यह व्यवहार देखकर वृद्ध महिला बोली, “ठीक है. यदि नियम ऐसा ही है, तो मुझे मेरे अकाउंट में जितना पैसा है, वो पूरा निकालकर दे दीजिये.”

“ठीक है.” कुछ नाराज़गी में कैशियर बोली और बुजुर्ग महिला का अकाउंट चेक करने लगी. लेकिन अकाउंट में जमा रकम देखकर उसके होश उड़ गए. बुजुर्ग महिला के खाते में २५०० करोड़ रूपये थे. उतने पैसे देना उस समय बैंक के लिए संभव नहीं था.

कैशियर अपनी आवाज़ में नरमी लाकर सम्मान सूचक शब्द के साथ वृद्ध महिला को संबोधित करते हुए बोली, “मैडम जी! आपके अकाउंट में जितना पैसा है, उतना कैश इस समय बैंक में उपलब्ध नहीं है. इसलिए इस वक़्त हम आपको उतना पैसा नहीं दे पाएंगे. आप कृपया हमें कुछ समय दे दें. हम कैश की व्यस्था कर आपको सूचित कर देंगे. तब आप आकर पूरा पैसा निकाल लीजियेगा.”

पढ़ें : हर हाल में ख़ुश रहें : जीवन का सीख देने वाली कहानी 

“ऐसी बात है, तो ये बताओ कि अभी आप मुझे कितना पैसा दे सकती हैं.” वृद्ध महिला ने पूछा.

हिसाब लगाने के बाद कैशियर बोली, “मैडम जी! अभी मैं आपको २५ लाख रूपये दे सकती हूँ.”

“ठीक है, तो मुझे २५ लाख रूपये निकालकर दे दीजिये.” 

कैशियर ने २५ लाख रुपये अकाउंट से निकालकर वृद्ध महिला को पूरे सम्मान के साथ दिए. वृद्ध महिला ने वे पैसे लिए और उनमें से सिर्फ ५०० रूपये अपने पास रखे. बाकी पैसे कैशियर को वापस करते हुए वह बोली, “अब इन पैसों को वापस मेरे अकाउंट में जमा कर दीजिये.”

कैशियर सन्न रह गई. वह कुछ बोल न सकी. उसने बाकी के पैसे वृद्ध महिला के खाते में डाल दिए.

सीखअपने जीवन में हम कई बार लोगों का आंकलन करने में जल्दबाजी करते हैं और उन्हें उनके शक्ल-सूरत, हाव-भाव, कपड़ों से आंकते है. फिर उसके हिसाब से उनके साथ व्यवहार करते हैं. कई बार वास्तविकता हमारी सोच या आंकलन से अलग होती है और ऐसे में वास्तविकता सामने आने पर अपने  व्यवहार पर हमें  शर्मिदगी होती है. जीवन में हर कोई बाहरी दिखावे में विश्वास नहीं करता. कई लोग सादगी से जीवन जीना पसंद करते है. उन्हें एक मुलाक़ात में आंका नहीं जा सकता. इसलिए एक मुलाक़ात में बाहरी व्यक्तित्व के आधार पर लोगों को आंकने की गलती न करें. 

Friends, आपको ये  “Short Moral Story About Life Lessons In Hindi” कैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. ये Hindi Story पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और  Famous Short Moral Story In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

Read More Hindi Stories :

Leave a Comment