राजा और बाज़ की कहानी | The King And Eagle Story In Hindi

फ्रेंड्स, राजा और बाज़ की कहानी (The King And Eagle Story In Hindi) हम इस पोस्ट में शेयर कर रहे हैं। ये Comfort Zone Story Hindi हमें जीवन में छोटे सुखों का त्याग कर बड़ा सोचने और बड़ा करने की सीख देती है। पढ़िए :

इस वेबसाइट के समस्त आर्टिकल्स/सामग्रियों का कॉपीटाइट website admin के पास है। कृपया बिना अनुमति Youtube या अन्य डिजिटल या प्रिंट मीडिया में इस्तेमाल न करें। अन्यथा कार्यवाही की जावेगी। 

The King And Eagle Story In Hindi 

The King And Eagle Story In Hindi

एक राज्य में एक राजा राज करता था। उसे पक्षियों से बड़ा प्रेम था। उसके बाग में तरह तरह के पक्षियों का बसेरा था।

एक दिन उसके दरबार में एक बहेलिया आया। बहेलिया अपने साथ बाज़ के दो बच्चे लाया था। उसने दोनों बाज़ के बच्चे राजा को दिए और बदले में इनाम पाकर लौट गया।

राजा बाज़ के बच्चों को पाकर बहुत खुश हुआ। दोनों बाज़ राजा के बाग में पलने लगे। जब वे उड़ने लायक हुए, तब एक बाज़ तो उड़ने लगा। मगर एक बाज़ पेड़ की डाल पर बैठा रहा।

राजा ने अपने सेवकों से उस बाज़ को उड़ाने को कहा। सबने बहुत कोशिश की, लेकिन बाज़ नहीं उड़ा। अंत में राजा ने पूरे राज्य में घोषणा करवा दी कि जो भी व्यक्ति उस बाज़ को उड़ाएगा, उसे ईनाम में पचास स्वर्ण मुद्राएं दी जायेंगी।

ये भी पढ़ें : बाज़ और चूज़े की कहानी 

राज्य भर से लोग आने लगे और बाज़ को उड़ाने का प्रयास करने लगे। लेकिन बाज़ नहीं उड़ा। धीरे धीरे लोगों ने आना बंद कर दिया। राजा हताश हो गया। उसे लगने लगा कि उसका बाज़ कभी नहीं उड़ पाएगा।

कुछ दिन बीत गए। एक दिन मंत्री एक व्यक्ति को लेकर राजा के पास आया और बोला, “महाराज! दूसरा बाज़ उड़ने लगा।”

राजा ने चकित होकर पूछा, “कैसे?”

“महाराज! इस व्यक्ति ने ये कर दिखाया।” मंत्री व्यक्ति की तरफ इशारा करके बोला।

राजा ने उस व्यक्ति से पूछा, “बताओ तुमने ये कैसे किया? कैसे तुमने बाज़ को उड़ाया?”

व्यक्ति बोला, “महाराज! मैंने वो डाल काट दी, जिस पर बाज़ बैठा हुआ था।”

सीख (Raja Aur Baaz Ki Kahani Ki Seekh)

दोस्तों! हम सफलता की ऊंची उड़ान भरना तो चाहते हैं। लेकिन अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकलना नहीं चाहते। सफलता प्राप्त करने के लिए रिस्क लेना पड़ता था, आराम छोड़ना पड़ता है और जी जान से मेहनत करनी पड़ती है। यदि आप इसके लिए तैयार हैं, तो आपको सफ़ल होने से कोई रोक नहीं सकता। लेकिन यदि आप आज के छोटे सुखों का मोह त्याग नहीं पाएंगे, तो भविष्य की बड़ी सफलता से सदा वंचित रहेंगे।

King And Eagle Short Story In Hindi

एक बहेलिए ने राजा को बाज़ के दो बच्चे दिए। राजा के बाग में वे पलने लगे।

दोनों बाज़ जब बड़े हुए, तो एक बाज़ उड़ने लगा, मगर दूसरा बाज़ पेड़ की डाल पर बैठा रहा।

राजा ने घोषणा करवाई कि जो दूसरे बाज को उड़ाएगा, उसे इनाम दिया जायेगा।

कई लोगों के कोशिश की, मगर बाज नहीं उड़ा। राजा हताश हो गया।

एक दिन एक व्यक्ति राजा के पास आया और बोला, “मैंने बाज़ को उड़ा दिया।”

 “कैसे?” राजा ने पूछा।

व्यक्ति बोला, “मैंने वो डाल काट दी, जिसमें बाज़ बैठता था।”

सफ़लता की ऊंची उड़ान आप भी उड़ सकते हैं, बस कम्फर्ट जोन की डाल आपको काटनी होगी।

Friends, आपको ये Eagle And King Story In Hindi कैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. ये Comfort Zone Story In Hindi पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और Moral Stories, Motivational Stories & Kids Stories In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

अन्य प्रेरक कहानियां 

चिड़िया और पेड़ की कहानी

भूखा शिकारी कुत्ता की कहानी

राजा और काना घोड़ा की कहानी 

Leave a Comment