फ़रिश्ता माँ पर कहानी | The Angel Mother Story In Hindi Heart Touching

फ्रेंड्स, इस पोस्ट में हम फ़रिश्ता माँ पर कहानी (The Angel Mother Story In Hindi Heart Touching) शेयर कर रहे हैं. Farishta Maa Par Kahani एक दिल को छू लेने वाली कहानी है, जिसमें माँ के प्यार, उसके त्याग और बच्चे के लिए उसके संपूर्ण अस्तित्व का वर्णन किया गया है. पढ़िये  The Angel Mother’s Day Heart Touching Story In Hindi  :

The Angel Mother Story In Hindi 

Table of Contents

The Angel Mother Story In Hindi 
The Angel Mother Story In Hindi

जन्म के पूर्व बच्चे के मन में कई शंकायें घूम रही थीं. वह एक नये जहाँ में जाना था. इसलिए वह डरा हुआ था. उससे न रहा गया और उसने अपनी सारी शंकाओं के समाधान के लिए भगवान के पास जाने के निर्णय किया.

>

वह भगवान के पास गया और कहने लगा, “ईश्वर! आप मुझे धरती पर भेज रहे हैं. लेकिन ज़रा सोचिये कि मैं कितना छोटा-सा हूँ. ख़ुद से तो मैं अपना ध्यान भी नहीं रख सकता. अब आप ही बताइए कि मैं वहाँ जाकर कैसे रहूंगा?”

भगवान मुस्कुराये, फिर बोले, “तुम नहीं जानते कि धरती पर बहुत सारे फ़रिश्ते हैं. उन्हीं में से एक का चुनाव मैंने तुम्हारे लिए किया है. उसे तुम्हारा इंतज़ार है. वही तुम्हारा ध्यान रखेगा.”

इससे बच्चे की शंका का समाधान नहीं हुआ. उसने अगला प्रश्न किया, “लेकिन यहाँ स्वर्ग में मैं बस गुनगुनाता और मुस्कुराता रहता हूँ. इसी तरह मैं खुश रहता हूँ. वहाँ मैं कैसे खुश रहूंगा?” 

“वह फ़रिश्ता तुम्हें देख कर मुस्कुरायेगा, तुम्हारे लिए गुनगुनायेगा. इस तरह तुम उसका प्रेम महसूस करोगे और बहुत खुश रहोगे.” भगवान ने कहा.

“लेकिन मैं तो वहाँ की भाषा भी नहीं जानता. जब लोग मेरे पास आयेंगे और कुछ कहेंगे, तो मैं वो समझूंगा कैसे?” बच्चे ने पूछा.

“यह तो बहुत ही आसान है. फ़रिश्ता तुमसे मधुर वाणी में प्यारे शब्द कहेगा और बहुत ही धैर्य से वह तुम्हें बोलना सिखाएगा.”

“लेकिन जब मुझे आपसे बात करनी होगी, तो मैं कैसे कर पाऊंगा?” बच्चा उदास हो गया.

ये भी पढ़ें : पिता बेटी की दिल को छू लेने वाली छोटी कहानी

भगवान मुस्कुराये और बच्चे के सिर पर हाथ फिराकर बोले, “उदास मत हो. वह तुम्हें प्रार्थना करना सिखाएगा और उस प्रार्थना के माध्यम से तुम मुझसे बात कर पाओगे”

“पर मैंने सुना है कि धरती पर बहुत से बुरे लोग रहते है. मुझे उनसे कौन बचाएगा?” बच्चे ने फिर अपनी आशंका जताई.

“तुम इसकी चिंता मत करो. वह फ़रिश्ता तुम्हारी रक्षा करेगा, चाहे इसके लिए उसे अपनी जान की बाजी ही क्यों न लगानी पड़े.”

“इन सबके बाद भी मैं हमेशा दुखी रहूंगा क्योंकि मैं आपको देख नहीं पाऊंगा.” बच्चा का चेहरा मुरझा गया.

भगवान ने  कहा, “तुम्हारा फ़रिश्ता तुमसे हमेशा मेरे बारे में बातें करेगा और तुम्हें सिखायेगा कि किस तरह तुम मेरे पास लौटकर आओगे. हालांकि मैं हर समय तुम्हारे पास ही रहूंगा.”

उस क्षण स्वर्ग में शांति छा गई. किंतु धरती से आवाजें आने लगी. बच्चे ने जल्दी से पूछा, “लगता है मेरे वहाँ जाने का समय निकट हैं. ये बता दीजिये कि उस फ़रिश्ते का नाम क्या है?”

भगवान बोले, “तुम्हें उस फ़रिश्ते का नाम जानने की कोई आवश्यकता नहीं. तुम उसे ‘माँ’ कहना.”


Friends, आपको ये ‘Farishta Maa Ki Kahani‘ कैसी लगी? आप अपने comments के द्वारा हमें अवश्य बतायें. ये ‘The Angel Mother’s Day Heart Touching Story In Hindi‘ पसंद आने पर Like और Share करें. ऐसी ही और Emotional, Heart Touching Stories, Moral Stories, Motivational Stories & Kids Stories In Hindi पढ़ने के लिए हमें Subscribe कर लें. Thanks.

इन कहानियों को भी अवश्य पढ़ें :

क्रोध पर कहानियाँ

दोस्ती पर कहानियाँ

ईमानदारी पर कहानियाँ

एकता पर कहानियाँ

Leave a Comment